बदलाव:6 लाख तक की टैक्सेबल इनकम पर मिलेगी टैक्स छूट!

4 September 2019 | 2.31 PM नई दिल्ली: अगर सरकार ने डायरेक्टर टैक्स की टास्क फोर्स की सिफारिश मान ली तो आपकी 6 लाख रुपये तक की टैक्सेबल इनकम पर कोई टैक्स नहीं देना पड़ेगा। मौजूदा समय में 5 लाख रुपये की टैक्सेबल इनकम पर कोई टैक्स नहीं देना पड़ता है। सूत्रों के अनुसार, वित्त मंत्रालय को डायरेक्ट टैक्स कोड पर सौंपी अपनी रिपोर्ट में टास्क फोर्स ने सरकार द्वारा 5 लाख रुपये तक की टैक्सेबल इनकम पर टैक्स छूट नीति को बहुत अच्छा कदम बताया है। मौजूदा समय में जो हालात हैं उसके हिसाब से बेहतर होगा कि टैक्से



आयकर विभाग अब सख्ती से नहीं, प्यार से पेश आएगा, नहीं भेजेगा धमकी भरा नोटिस

19 August 2019 | 11.52 AM नई दिल्ली: आयकर विभाग ने टैक्स संबंधी मुद्दों से डील करने के लिए दोस्ताना रवैया अपनाने का फैसला लिया है। यानी इनकम टैक्स रिटर्न भरते समय अगर आपसे कोई भूल हो गई है तो आयकर विभाग आपको धमकी भरा नोटिस नहीं भेजेगा। दरअसल वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आयकर अधिकारियों को अपने तौर-तरीकों में बदलाव लाने को कहा था, जिसके बाद विभाग ने टैक्स-पेयर्स के साथ नरम रुख अपनाने का फैसला लिया है। दोस्ताना लहजे से बात करेगा विभाग खबरों के मुताबिक, वित्त मंत्री ने टैक्स चोरी को रोकने के



ई-फाइलिंग लाइट पोर्टल पर कैसे भरें आयकर रिटर्न?

13 August 2019 | 11.35 AM इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की ई-फाइलिंग वेबसाइट का इस्तेमाल करने में कुछ करदाताओं को दिक्कत आती है. अच्छी इंटरनेट स्पीड न होने के कारण ऐसा होता है. इस मसले का समाधान करने के लिए विभाग ने 'ई-फाइलिंग लाइट' नाम की नई सुविधा लॉन्च की है. ई-फाइलिंग लाइट विभाग के ई-फाइलिंग पोर्टल का हल्का वर्जन है. यह पोर्टल तक आसान पहुंच उपलब्ध कराता है. साथ ही तेजी से टैक्स रिटर्न फाइल करने में मदद करता है. कैसे करें इस्तेमाल? लाइट वर्जन का इस्तेमाल करने के लिए https://www.incometaxindiaef



आयकर विभाग: ई-फाइलिंग लाइट सुविधा के तहत अब करदाता आसानी से भर सकेंगे रिटर्न

3 August 2019 | 11.27 AM नई दिल्ली: आयकर विभाग ने करदाताओं की सुविधा के लिए ई-फाइलिंग के जरिये रिटर्न दायर करने के लिए एक नई सरल सुविधा शुरू की है। इसे ‘ई-फाइलिंग लाइट’ सुविधा का नाम दिया गया है। यह सुविधा विभाग के आधिकारिक पोर्टल https://www.incometaxindiaefiling.gov.in पर शुरू हो गई है। विभाग ने सार्वजनिक परामर्श में कहा, ‘आयकर विभाग करदाताओं द्वारा आयकर रिटर्न भरने को ध्यान में रखते हुए ई-फाइलिंग पोर्टल का सुविधाजनक संस्करण ‘ई-फाइलिंग लाइट’ शुरू कर रहा है।&rsqu



इनकम टैक्स विभाग आईटीआर भरने के बाद भी भेज सकता है नोटिस, जानिए इसके कारण?

30 July 2019 | 12.01 PM नई दिल्ली: सामान्यतः जब इनकम टैक्स विभाग से कोई नोटिस मिलता है तो करदाता को स्वतः ही चिंता हो जाती है कि यह नोटिस क्यों आया है। आइए इस बात को समझते हैं कि इसके मुख्य कारण क्या हैं। करदाताओं को मुख्य रूप से इनकम टैक्स की विभिन्न धाराओं जैसे 139(9), 143(1), 143(2), 143(3), 245, 144, 147 और 148 आदि में नोटिस आ सकता है जिनका मुख्य कारण आय को छुपाना, गलत रिफंड मांगना, कर की गणना में गलती होना, इनकम टैक्स की रिटर्न न दाखिल करना गलत सूचना देना आदि हैं। आज हम आपको बता रहे हैं क



ITR फॉर्म सबमिट करने के पश्चात जरूर कराएं ई वेरिफिकेशन, अन्यथा आपका फॉर्म अधूरा माना जाएगा:

22 July 2019 | 2.21 PM नई दिल्ली: इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फॉर्म भरने के बाद उसका इलेक्ट्रॉनिक वेरिफिकेशन जरूर करा लें, नहीं तो आपका फॉर्म अधूरा माना जाएगा। सीधे तौर पर कहें, तो आईटीआर फाइल करने का अंतिम चरण फॉर्म सबमिट नहीं, वेरिफिकेशन होता है। वैसे तो वेरिफिकेशन ऑफलाइन भी किया जा सकता है। इसके लिए 120 दिनों का वक्त भी मिलता है। हालांकि सबसे आसान तरीका इलेक्ट्रॉनिक वेरिफिकेशन है। ऐसे में आज हम आपको इलेक्ट्रॉनिक वेरिफिकेशन के 4 तरीके बता रहे हैं। नेटबैकिंग से वेरिफिकेशन नेटबैंकिंग के जरिए भी आ