ITR-1 में सैलरी का ब्योरा भरने का जानिए तरीका?

22 May 2019 | 11.55 AM आयकर रिटर्न (ITR) फाइल करने के लिए वेतन पाने वाले लोग एक फॉर्म का खूब इस्तेमाल करते हैं. वह फॉर्म है ITR-1. आयकर विभाग की ई-फाइलिंग वेबसाइट पर अब यह फॉर्म उपलब्ध है. इस तरह आप कंपनी से फॉर्म-16 मिल जाने पर आसानी से ITR फाइल कर सकते हैं. वित्त वर्ष 2018-19 के लिए ITR-1 कई मायनों में अलग है. यहां तक कि फॉर्म-16 में भी इस साल बदलाव हुए हैं. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) की अधिसूचना के मुताबिक, फॉर्म-16 के नए फॉर्मेट में अधिक विस्तृत जानकारी होगी. मसलन, जिन भत्तों पर टै



अब जरूरी हैं ये दस्तावेज ITR फाइलिंग के लिए, वरना हो सकती है इनके बिना परेशानी:

9 May 2019 | 2.32 PM नई दिल्ली: वित्त वर्ष 2018-19 बीत जाने के बाद अब एसेसमेंट ईयर 2019-20 के लिए आईटीआर फाइलिंग की तारीख भी नजदीक आती जा रही है। आयकर विभाग की ओर से इस वित्त वर्ष के लिए आईटीआर फॉर्म्स को भी नोटिफाई किया जा चुका है। कुछ फॉर्म में बदलाव भी किए गए हैं। ऐसे में अगर आप भी खुद या अपने एक्सपर्ट्स के जरिए आईटीआर फॉर्म्स (आकलन वर्ष (2019-20) भरवाने की योजना बना रहे हैं तो आपको यह बात मालूम होनी चाहिए कि इसके लिए किन किन दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है। फॉर्म-16: अगर आप नौकरीपेशा हैं तो



नौकरीपेशा लोगों के लिए बड़ी खबर! जानिए फॉर्म 16 में हुए ये बदलाव कब से होंगे लागू?

7 May 2019 | 12.18 PM इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने फॉर्म 16 में बड़ा बदलाव किया है. टैक्स डिपार्टमेंट से अधिसूचित संशोधित फॉर्म 12 मई 2019 को प्रभाव में आएगा. इसका मतलब है कि वित्त वर्ष 2018-19 के लिए आयकर रिटर्न संशोधित फॉर्म 16 के आधार पर भरा जाएगा. एक्सपर्ट्स का कहना है कि फॉर्म 16 और 24 क्यू को संशोधित किया गया है. इसका मकसद इसे अधिक व्यापक और सूचना देने वाला बनाना है. आपको बता दें कि फॉर्म 16 में मकान से आय और अन्य कंपनियों से प्राप्त अलाउंस समेत विभिन्न बातों को जोड़ा गया है. इस तरह से इसे



ITR-2 ई-फॉर्म में अब देना होगा सैलरी का पूरा ब्रेक-अप:

4 May 2019 | 12.36 PM नई दिल्ली: इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने फाइनैंशल इयर 2018-19 के लिए आईटीआर 2 फाइल करने के लिए ई-फॉर्म जारी कर दिए हैं। आईटीआर 2, इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए दूसरा सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला फॉर्म है। कैपिटल गेन या फिर एक ज्यादा हाउस प्रॉपर्टी रखने वाले किसी भी व्यक्ति को यह फॉर्म भरना होता है। लेकिन कारोबार और नौकरी के जरिए पैसे कमाने वालों को यह फॉर्म भरना नहीं होता है। जिस फॉर्मेट में आईटीआर 2 में सैलरी डीटेल्स देनी है, वह फॉर्म 16 में दिए गए सैलरी ब्रेकअप से सि



इस साल ITR-1 में सैलरी डीटेल भरना होगा आसान, करदाताओं को मिली सुविधा...

20 April 2019 | 12.07 PM नई दिल्ली: सरकार द्वारा वित्त वर्ष 2018-19 के लिए जारी किए गए ITR-1 फॉर्म में अब सैलरी डीटेल भरना पहले से आसान हो गया है। इस बार आईटीआर-1 में सैलरी डीटेल को बस कॉपी-पेस्ट करना होगा जो पहले से फॉर्म-16 में उपलब्ध है। बता दें कि पिछले वर्ष तक आईटीआर-1 में सैलरी डीटेल्स को अलग से भरने की जरूरत होती थी। इस साल आईटीआर-1 को फॉर्म-16 के साथ सिंक कर दिया गया है ताकि टैक्सपेयर्स को डीटेल्स भरने में आसानी हो सके। पिछले साल, जिस फॉर्मेट में सैलरी के ब्रेकअप को भरने की जरूरत होती



एग्रीकल्चर इनकम दिखाकर टैक्स नहीं बचा पाएंगे आप, जानिए ITR फाॅर्म के बदलाव:

15 April 2019 | 12.25 PM नई दिल्ली. CBDT (Central Board of Direct Taxes) ने सारे Income Tax (आइटी) फॉर्म्स को रिलीज कर दिया है। इन फॉर्म्स को देखने पर आपको समझ आएगा कि इनमें काफी बदलाव हुए हैं। इनमें सबसे अहम बदलाव हुआ है एग्रीकल्चर इनकम और NRI स्टेटस वाले लोगों की अनडिस्क्लोज्ड प्रॉपर्टी को लेकर। सीए व टैक्स एक्सपर्ट हिमांशु कुमार ने बताया कि पहले के फॉर्म्स में इतनी जानकारी नहीं मांगी जाती थी, जितनी इन नए फॉर्म्स में मांगी गई है। अब लोग एग्रीकल्चर इनकम दिखाकर अपना टैक्स नहीं बचा पाएंगे और सैल