GST के सालाना रिटर्न में बदलाव की मांग, जानिए इसके पीछे का कारण?

27 November 2018 | 12.20 PM नई दिल्ली: जीएसटी का पहला सालाना रिटर्न भरने की तैयारी कर रहे कारोबारियों और टैक्स प्रफेशनल्स ने आशंका जताई है कि मौजूदा फॉर्मैट में अगर बदलाव नहीं किया गया तो पूरे साल के रेकॉर्ड दोबारा बनाने पड़ सकते हैं। सालाना रिटर्न के तहत कई ऐसी जानकारियां मांगी गई हैं, जिनकी अबतक कभी जरूरत नहीं पड़ी और न ही किसी मंथली रिटर्न में ऐसा प्रावधान था। सालाना रिटर्न भरने की आखिरी तारीख 31 दिसंबर है, लेकिन अभी तक कॉमन पोर्टल पर इसकी यूटिलिटी ऑनलाइन नहीं हुई है। हालांकि, जीएसटीएन ने इस



पीएम मोदी: GST के तहत रजिस्टर्ड कारोबारियों को मिलेगा 2% सस्ता लोन

3 November 2018 | 12.27 PM नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐलान किया है कि GST के तहत रजिस्टर्ड हर MSME को एक करोड़ रुपए तक के नए कर्ज या इन्क्रीमेंटल लोन पर ब्याज में 2 प्रतिशत की छूट दी जाएगी। मोदी ने शुक्रवार को विज्ञान भावन में आयोजित MSME सपोर्ट आउटरीच प्रोग्राम में यह घोषणा की। इस मौके पर उन्होंने 'डिजिटल लेंडिंग प्लेटफॉर्म' की शुरुआत की। इस पोर्टल में एक करोड़ रुपए तक का लोन बिना किसी गारंटी के लिया जा सकेगा। साथ ही लोन के लिए बैंकों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। बड़ी बात यह है कि म



GSTR-3B की डेट बढ़ी, लेकिन अभी भी मुश्किलें बरकरार

22 October 2018 | 12.43 PM नई दिल्ली: सरकार ने सितंबर महीने की समरी सेल्स रिटर्न (GSTR-3B) की फाइलिंग और 1 जुलाई 2017 से मार्च 2018 तक के इनपुट टैक्स क्रेडिट (ITC) क्लेम करने की डेडलाइन 20 से बढ़ाकर 25 अक्टूबर कर दी है। हालांकि इसकी मांग इंडस्ट्री में जोरशोर से की जा रही थी, लेकिन अब इसका फायदा सिर्फ उन्हीं लोगों को मिलेगा, जो रिटर्न नहीं भर पाए थे। समय पर फाइलिंग कर चुके लोग किसी भूल-चूक, क्रेडिट मिसिंग या सिस्टम एरर को नहीं सुधार सकते। जानकारों की मानें तो ट्रेड-इंडस्ट्री के लिए इससे भी बड़ी



GST: जल्द सुधार ले पिछली सारी गलतियां, अब कुछ ही दिन बचे हैं

15 October 2018 | 11.36 AM जीएसटी रजिस्टर्ड ट्रेडर्स के पास वित्त वर्ष 2017-18 के किसी बिल या रिटर्न में गलती या इनपुट टैक्स क्रेडिट के क्लेम में हुई चूक को सुधारने के लिए अब कुछ ही दिन बचे हैं। जीएसटी एक्सपर्ट्स के मुताबिक कुछ आम त्रुटियां या विसंगतियां हैं, जिसे हर ट्रेडर को समय रहते क्रॉसचेक कर लेना चाहिए और 20 सितंबर तक जाने वाले सितंबर महीने व तिमाही के रिटर्न के माध्यम से उन्हें संशोधित करा लेना चाहिए। पिछले किसी महीने का आईटीसी क्लेम करने या ज्यादा आईटीसी रिवर्स करने का भी यह आखिरी मौका



ई-कॉमर्स कंपनियों को हर राज्य में कराना होगा रजिस्ट्रेशन, जानिए इसके पीछे का कारण?

29 September 2018 | 12.36 PM नई दिल्ली: ई-कॉमर्स कंपनियों को गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स (GST) सिस्टम के तहत टैक्स कलेक्टेड एट सोर्स (TCS) के कलेक्शन के लिए उन सभी राज्यों में अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा, जहां उसके सप्लायर मौजूद हैं। इसके साथ ही विदेशी कंपनियों को ऐसे रजिस्ट्रेशन कराने के लिए एक ‘एजेंट’ भी नियुक्त करना होगा। सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्सेस एंड कस्टम्स (CBIC) ने यह जानकारी दी है। गौरतलब है कि ई-कॉमर्स कंपनियों को 1 अक्टूबर से अपने सप्लायर्स को पेमेंट करने से पहले 1



GST: FY18 के लिए क्रेडिट क्लेम का आखिरी मौका, गलती हुई है तो सुधार लें

26 September 2018 | 12.02 PM नई दिल्ली: अगर आपने गुड्स एडं सर्विसेस टैक्स (जीएसटी) के तहत टैक्स रिटर्न फाइल किया है और उसमें कुछ गलतियां हो गई हैं तो घबराने की जरूरत नहीं है। आपके पास उसमें सुधार का आखिरी मौका बचा है। जीएसटी के नियमों के तहत कारोबारी 30 सितंबर तक क्रेडिट क्लेम कर सकते हैं। दरअसल सितंबर कारोबारियों के लिए काफी अहम रहने वाला है, क्योंकि इस महीने में वर्ष 2017-18 में जारी इनवॉइस के तहत क्रेडिट क्लेम किया जा सकेगा। साथ ही इस साल के टैक्स रिटर्न फॉर्म की गलतियों को सुधारने का आखिरी